४ फरवरी २०१० को विश्व कैंसर दिवस है


विश्व में कैंसर मृत्यु का एक प्रमुख कारण बनता जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार २००५-२०१५ में लगभग ८ करोड़ ४० लाख लोगों की मृत्यु कैंसर की वजह से होगी. ४ फरवरी २०१० को विश्व कैंसर दिवस मनाया जाता है. 
इस वर्ष विश्व कैंसर दिवस का केंद्रीय विचार है: "कैंसर से बचाव भी मुमकिन है". कैंसर से बचने के सरल और वास्तविक सुझाव जैसे कि: 
- तम्बाकू सेवन न करना
- पौष्टिक भोजन खाना और नियमित रूप से व्यायाम करना
- शराब आदि व्यसनों का सेवन न करना 
- कैंसर का खतरा बढ़ाने वाले संक्रमणों से बचना 

लखनऊ के छत्रपति शाहूजी महाराज चिकित्सा विश्विद्यालय के सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉ० रमा कान्त का कहना है कि "जन-हितैषी नीतियों को प्रभावकारी ढंग से लागू करना चाहिए. जैसे कि, भारत का सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम २००३, यदि प्रभावकारी ढंग से लागू किया जाए तो संभवत: तम्बाकू-जनित कैंसर का अनुपात कम होगा और उस पर विराम भी लग सकता है".  विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक ने वर्ष २००५ में प्रोफेसर डॉ रमा कान्त को विशेष पुरुस्कार दे कर सम्मानित किया था.

वर्ष २००५ में, ७६ लाख लोगों की मृत्यु का कारण कैंसर था. इनमें से ७० प्रतिशत मृत्यु, विकासशील देशों में हुईं थीं.

No comments: