साल के अंत तक राजधानी होगी धूम्रपान मुक्त

साल के अंत तक राजधानी होगी धूम्रपान मुक्त

दिल्ली सरकार ने इस वर्ष के अंत तक राजधानी को धूम्रपान रहित बनाने का लक्ष्य लिया है। इस आशय का प्रस्ताव बुधवार को मंत्रिमंडल ने स्वीकार कर लिया है। इसके लिए ब्लूम वर्ग ग्लोबल पहल के साथ मिलकर काम किया जाएगा। दिल्ली दक्षता मिशन सोसायटी के गठन को भी स्वीकृति दी गई है। मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने बताया कि दिल्ली को धूम्रपान मुक्त बनाने के लिए ब्लूम वर्ग ग्लोबल इनीसिएटिव के साथ मिलकर काम किया जाएगा।

इस परियोजना को दो वर्ष में दस करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से अक्टूबर २००८ से सितंबर २००९ के बीच कभी भी लागू किया जाएगा। बीजीआई इसके लिए चार करोड़ रुपये व दिल्ली सरकार छह करोड़ रुपये का योगदान देगी। सरकार ने अमेरिका की इस संस्था के साथ समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर करने का निर्णय लिया है। बीजीआई इसके तहत विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर वायु निकोटिन निगरानी उपकरण स्थापित करेगी। साथ ही इस काम में परियोजना तक को प्रशिक्षण देगी और एकत्र किए गए डाटा का विश्लेषण करेगी। उनकी सरकार राष्ट्रमंडल खेल से पहले २००९ तक दिल्ली को धूम्रपान रहित क्षेत्र बनाने को वचनबद्ध है।

No comments: