तम्बाकू उत्पादनों पर चित्रमय चेतावनी सरकारी निर्देश के अनुसार नहीं लग रही है

तम्बाकू उत्पादनों पर चित्रमय चेतावनी सरकारी निर्देश के अनुसार नहीं लग रही है


मुंबई में अब तम्बाकू उत्पादनों पर चित्रमय चेतावनी दिखने लगी है। अब सिगरेट, बीड़ी, गुटखा, आदि के डिब्बों पर या 'सैचेट' पर चित्रमय चेतावनी छपने लगी है।

परन्तु यह चेतावनी उस तरह से नहीं छाप रही है जिस तरह से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रस्तावित की थी। गुटखा एवं बीड़ी पर तो चित्रमय चेतावनी दिखने लगी है परन्तु सिगरेट - देसी एवं विदेसी दोनों पर - ऐसी चेतावनी नहीं दिख रही है। जो तम्बाकू उत्पादनों के पैकेट चित्रमय चेतावनी छाप रहे हैं, वोह कोई न कोई सरकारी निर्देश को नज़रंदाज़ कर रहे हैं।

उदाहरण के तौर पर, स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार तम्बाकू उत्पादनों के पैकेट के ४० प्रतिशत भाग पर चित्रमय चेतावनी होनी चाहिए थी, यह चेतावनी, पैकेट के सामने वाले भाग में होनी चाहिए, उपरी सतह से समानांतर होनी चाहिए, और उसी दिशा में पढ़ी जानी चाहिए जिस दिशा में पैकेट पर छपे अन्य अक्षर पढ़े जा रहे हैं। सरकारी निर्देश के अनुसार यह चेतावनी उसी भाषा में प्रकाशित होनी चाहिए जिस भाषा में अन्य अक्षर पैकेट पर लिखे गए हैं।

No comments: