फिल्मों में तम्बाकू सेवन न करें: रामादोस ने अमिताभ बच्चन और शाहरुख़ खान से कहा

फिल्मों में तम्बाकू सेवन न करें:
रामादोस ने अमिताभ बच्चन और शाहरुख़ खान से कहा
फिल्मों में तम्बाकू का सेवन करने से युवाओं और बच्चों पर असर पड़ता है और अनेकों शोधों के अनुसार उनमें तम्बाकू का सेवन शुरू करने का ये एक बड़ा कारन है, इसीलिए भारत के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ अंबुमणि रामादोस ने सिने अभिनेता अमिताभ बच्चन और शाहरुख़ खान से निवेदन किया की वह लोग तम्बाकू का सेवन कम-से-कम फिल्मों में तो कतई न करें।
"धूम्रपान शुरू करने का सबसे बड़ा कारन फिल्मों मी धूम्रपान को प्रदर्शित करना है। ५२% बच्चे और युवा में धूम्रपान फिल्मों की वजह से धुरु हुआ है, ऐसा शोध के अनुसार प्रमाणित हुआ है और इसीलिए फिल्मों में धूम्रपान प्रदर्शित करने पर बंदी लगी है" कहा डॉ रामादोस ने।
"मैं पहले भी शाहरुख़ खान से अपील कर चूका हूँ और दुबारा करना चाहूँगा कि वो और अमिताभ बच्चन और अन्य फिल्म कलाकार परदे पर धूम्रपान न करें" डॉ रामादोस ने न्यूज़ चैनल के इन्तेर्विएव में कहा।
डॉ रामादोस ने शाहरुख़ खान के हाल ही में हुए क्रिकेट मैच में धूम्रपान करने का भी खंडन किया।
तम्बाकू के उत्पादनों पर तस्वीर या फोटो वाली चेतावनी पर डॉ रामादोस ने दुबारा जोर डाला और कहा कि उनका मानना है कि ऐसी चेतावनी प्रभावकारी तम्बाकू नियंत्रण के लिए असरकारी सिद्ध होंगी। "अब तक हम लोगों से तम्बाकू सेवन न करने की विनती करते आये हैं, आवश्यक है कि तम्बाकू के कु-प्रभावों वाली तस्वीर या फोट से लोगों को चेता जा सके" डॉ रामादोस ने कहा।
विकसित देशों में तम्बाकू सेवन कम होता जा रहा है परन्तु भारत में तम्बाकू सेवन बढोतरी पर है, डॉ रामादोस ने चिंता जाहिर की।
१८ महीनों पहले भारत सरकार ने तम्बाकू उत्पादनों पर फोटो वाली चेतावनी लगाने की रजामंदी दे दी थी पर अब तक इसको लागु नही कर पायी है। डॉ रामादोस ने कहा कि १८ महीनों का विलम्ब राजनितिक अवरोधों और विधि प्रक्रिया की वजह से हुआ है। परन्तु भारत सरकार तम्बाकू उत्पादनों पर फोटो वाली चेतावनी लगाने के लिए व्चंबध है, आश्वासन दिया डॉ रामादोस ने।

No comments: