अवैधानिक स्थानों पर तम्बाकू की खेती प्रतिबंधित

अवैधानिक स्थानों पर तम्बाकू की खेती प्रतिबंधित

तम्बाकू नियंत्रण बोर्ड के चेयरमैन, जे० सुरेश बाबू ने तम्बाकू के किसानों से कहा है कि वह किसी भी तरह के अवैधानिक स्थानों पर तम्बाकू की खेती न करें, यदि किसी भी किसान को ऐसा करते हुए पाया गया तो उसकी फसल नस्ट कर दी जायेगी।

तम्बाकू की फसल में मुनाफा अत्यधिक बढ़ जाने के कारण किसानों ने एस बार तम्बाकू की फसल में वृद्धि कर दी थी. तम्बाकू की खेती करने वाले सारे किसान तम्बाकू नियंत्रण बोर्ड में पंजीकृत हैं और बिना इस बोर्ड की अनुमति के वह तम्बाकू की खेती नहीं कर सकते हैं. ऐसे समय में जब तम्बाकू के फसल की कीमत इतनी बढ़ गई है बोर्ड का इस तरह का निर्णय निश्चय ही तम्बाकू किसानों की चिंता बढ़ा सकता है।

कर्नाटक में पिछले साल के मुकाबले इस बार करीब ५००० हेक्टेयर तम्बाकू के फसल की बुवाई बढ़ गई है. वहीँ आंध्र प्रदेश में अब तम्बाकू के फसल की बुवाई शुरु होने वाली है. वैश्विक बाज़ार में इस साल तम्बाकू उत्पाद की कीमत पिछले साल के मुकाबले इस साल करीब $ २-६ डालर बढ़ गई है. भारत में, आंध्र प्रदेश के किसानों के तम्बाकू की कीमत वैश्विक बाज़ार में सबसे ज्यादा आंकी गई है जो पिछले साल ६५ रूपये प्रति किलो से बढ़कर १४१ रूपये प्रति किलो हो गई है। तम्बाकू नियंत्रण बोर्ड का इस वक्त पुरा धयन तम्बाकू कि खेती पर है, क्योंकि बोर्ड किसानों का ध्यान सिर्फ़ तम्बाकू कि फसल से हटाकर और फसलों कि तरफ़ ले जाना चाहता है।

No comments: