धूम्रपान रहित सार्वजनिक स्थान स्वास्थ्य के लिए लाभदायक


धूम्रपान रहित सार्वजनिक स्थान स्वास्थ्य के लिए लाभदायक

विभिन्न प्रकार के तम्बाकू नियंत्रण अभियानों के बावजूद भी भारत में तम्बाकू के प्रयोग को प्रभावकारी तरीके से रोकनें में सफलता नही मिली है. किंतु हाल ही में पारित धूम्रपान विरोधी अधिनियम जो कि २ अक्टूबर २००८ से सम्पूर्ण भारत में प्रभावकारी होने जा रहा है निश्चय ही सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान में प्रतिबन्ध लायेगी और अप्रत्यक्ष धुम्रपान के द्वारा प्रभावित लोगों में कमी होगी।

इंग्लैंड मेडिकल जर्नल में प्रकाशित शोध के मुताबिक यदि हम धूम्रपान विरोधी अधिनियम को प्रभावकारी तरीके से लागू कर लें तो तम्बाकू द्वारा प्रभावित लोगों में करीब १७ प्रतिशत की कमी लाई जा सकती है. इसके अतिरिक्त अप्रत्यक्ष धूम्रपान का शिकार हो रहे लोगों में भी करीब ६७ प्रतिशत की गिरावट होगी. इसमें कोई दो राय नहीं कि अप्रत्यक्ष धूम्रपान अत्यन्त ही घातक है। इस सम्बन्ध में वरिष्ट चिकित्सक श्री नीरज मिश्रा का कहना है कि अप्रत्यक्ष धूम्रपान से न केवल ह्रदय से संबधित रोग हो जाते हैं बल्कि कई तरह के अन्य असाध्य रोग भी हो जातें हैं।

No comments: