एक पिता अनिश्चितकालीन उपवास पर

एक पिता अनिश्चितकालीन उपवास पर

हरदोई जिले के बेनीगंज थाना छेत्र से लगभग ४० लोग लखनऊ में पिछले ३ दिनों से धरना दिए हुए हैं और ठाकुरी प्रसाद नामक दलित अनिश्चितकालीन उपवास पर है.

ठाकुरी प्रसाद इसलिए उपवास पर है क्योंकि उसके इकलौते लड़के राज-किशोर की ५ अप्रैल २००८ को यतेन्द्र और सत्येन्द्र के हाथों हत्या कर दी गई थी.

सत्येन्द्र और यतेन्द्र दोनों कमलेश के पुत्र हैं, जो गावं मल्ह्पुर के निवासी हैं.

राजनीतिक दबाव की वजह से जो एफ.आई.आर दर्ज हुई है वह अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ दर्ज हुई है, न कि सत्येन्द्र और यतेन्द्र के ख़िलाफ़.

गावं वालों का कहना है कि स्थानीय सभासद (ऍम.एल.ए) और कैबिनेट मंत्री राम पाल वर्मा जो मायावती की प्रदेश सरकार में शामिल हैं, और उसका भतीजा जो स्थानीय सांसद है - अशोक रावत - ठाकुरी प्रसाद के लड़के के कातिलों को संग्रक्षण दे रहे हैं. सांसद अशोक रावत पहले भी देह व्यापर के काण्ड में फँस चुके हैं, जब गुजरात के सांसद बाबूभाई कटारा को इंदिरा गाँधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई-अड्डे पर एक महिला को अपनी बीवी के पासपोर्ट पर कनाडा भेजते हुए पकड़ा गया था.

ठाकुरी प्रसाद और उसके परिवार को स्थानिए पुलिस पर कोई विश्वास नही है, और इसीलिए इस हत्याकांड की सी.बी.आई जांच होनी चाहिए. इन लोगों ने पुलिस के महानिदेशक से इस जांच की विनती की है.

यदि धरना स्थल पर मीडिया बंधुओं को बात करनी हो, तो कृपया कर के बाबु राम कमल या राजेश से इस फ़ोन नम्बर पर सम्पर्क करें: ९७९३२७१९३०, और दिनेश से इस नम्बर पर: ९९१९८२४०६४

संदीप पाण्डेय

No comments: