रामादोस ने पश्चिम बंगाल के मुख्य मंत्री के धूम्रपान करने पर आपत्ति जाहिर की


रामादोस ने पश्चिम बंगाल के मुख्य मंत्री के धूम्रपान करने पर आपत्ति जाहिर की


सिने-अभिनेता अमिताभ बच्चन और शाह रुख खान के तम्बाकू सेवन करने पर, खासकर कि फिल्म परदे पर तम्बाकू के सेवन को करने पर भारत के केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ अंबुमणि रामादोस पहले से ही टिपण्णी कर चुके हैं क्योकि फिल्मों में तम्बाकू सेवन को दिखाने से बच्चों और युवाओं पर सबसे अधिक बुरा असर पड़ता है. फिल्मों में तम्बाकू सेवन को दिखाना बच्चों और युवाओं के तम्बाकू सेवन शुरू करने का सबसे बडा कारण है.

डॉ रामादोस ने पश्चिम बंगाल के मुख्य मंत्री श्री बुद्धदेब भट्टाचार्जी के सार्वजनिक रूप से धूम्रपान करने पर आपत्ति जाहिर की.

भारत के सिगारेत्ते एवं अन्य तम्बाकू उत्पादन अधिनियम के तहत (२००३) सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान करना वर्जित है.

पश्चिम बंगाल में ७०.२ प्रतिशत आदमी धूम्रपान करते हैं. प्रदेश के मुख्य मंत्री होने के नाते श्री भट्टाचार्जी का दायित्व है कि वो तम्बाकू के सेवन को त्याग दे और बाकि तम्बाकू सेवन करने वाले लोगों के लिए प्रेरणा बने.

पश्चिम बंगाल के सचिवालय परिसर में तम्बाकू सेवन और धूम्रपान वर्जित है. पर प्रदेश के मुख्य मंत्री महोदय इसका खुला उलंघन करते हैं और अपने ही कार्यालय में खुले रूप से धूम्रपान करते हैं.

भारत के कानून के मुताबिक अब यदि कार्यस्थल पर कोई भी करमचारी धूम्रपान करते पाया गया तो संस्थान पर रुपया ५००० जुर्माना होगा. यदि दो करमचारी धूम्रपान करते पकडे गए तो जुर्माना १०,००० रुपया होगा.

भारत सरकार ये भी योजना बना रही है की यदि सार्वजनिक स्थान पर कोई व्यक्ति धूम्रपान करते पकडा गया टू उसपर रुपया ,००० जुर्माना होना चाहिऐ. फिलहाल ये रकम रुपया २०० है, जो बाधा के ,००० करने का प्रस्ताव है.


No comments: