चित्रमय चेतावनियों का आकार : बड़ी एवं व्यापक चेतावनियाँ अधिक प्रभावकारी

चित्रमय चेतावनियों का आकार : बड़ी एवं व्यापक चेतावनियाँ अधिक प्रभावकारी

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सर्वोत्तम प्रभावकारी कार्यक्रमों का विवरण:









ऑस्ट्रेलिया
पीछे: ३०%
आगे: ९०%










ब्राजील

१००% किसी भी एक तरफ़











कनाडा

आगे: ५०%
पीछे: ५०%











थाईलैंड

आगे: ५०%
पीछे: ५०%










यू.के.

आगे ४३%
पीछे: ५३%

फोटो वाली चेतावनी का आकार : अंतर्राष्ट्रीय सर्वोत्तम कार्य प्रणाली

* ६०% न्यू जीलैंड (३०% सामने, ९०% पीछे का)

* ५६ % बेल्जियम (४८ % सामने का, ६३% पीछे का, बॉर्डर समेत)

* ५६ % स्विट्जरलैंड (४८ % सामने का, ६३%पीछे का, बॉर्डर समेत)

* ५२ % फिनलैंड (४५% सामने का और ५८% पीछे का, बॉर्डर समेत)

* ५० % सिंगापूर (५० % सामने और पीछे का)

* ५०% उरुगुए (५० % सामने और पीछे का)

* ५० % चिले (५० % सामने और पीछे का)

* ५० % वेनेज़ुएला (१००% सामने या पीछे का)

* ४८ % नोर्वे (४३ % सामने का, ५३ % पीछे का, बॉर्डर समेत)

भारतीय परिदृश्य

शासन द्बारा पहले सूचित करी गयी चित्र चेतावनियाँ
ज़ोरदार और प्रभावकारी – क्षेत्र परीक्षित





























पिछले
नियमों के अनुसार चित्र चेतावनी तम्बाकू पदार्थों के सभी पैकेट का आगे और पीछे, दोनों, के हिस्से के ५०% भाग को ढांकती थी
-----------

३१ मई, २००९ से लागू की गयी फोटो चेतावनी
हल्की और कमज़ोर – क्षेत्र परीक्षित नहीं
























३ मई
, २००९ को
जारी किए गए नए नियमों के अनुसार, ये चेतावनियाँ तम्बाकू पैक के सामने वाले मुख्य क्षेत्र के केवल ४०% भाग पर प्रर्दशित की जायेंगी

अंतर्राष्ट्रीय बाध्यता : भारत ने फ्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन टुबैको कंट्रोल (ऍफ़.सी.टी.सी.) को फरवरी २००४ में अंगीकार किया था। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रथम अंतर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य संधि है. इस संधि के अनुसार भारत को २७ फरवरी, २००८ तक फोटो चेतावनी को कार्यान्वित कर देना चाहिए था. परन्तु अभी तक इस प्रकार की कोई चेतावनी तम्बाकू उत्पादों पर चित्रित नहीं है। इसके अलावा, ऍफ़.सी.टी.सी. के अनुसार कम से कम ३०% आगे के व ३०% पीछे के हिस्से पर इनका प्रदर्शन होना चाहिए। भारत ने इसका भी अनुपालन नहीं किया है।
------------

इसको इंडियन सोसाइटी अगेंस्ट स्मोकिंग, आशा परिवार द्वारा प्रकाशित एवं वितरित किया गया है

Credits: We acknowledge the financial contribution received from Bloomberg Initiative to Reduce Tobacco use and technical contribution received from HRIDAY on behalf of Advocacy Forum for Tobacco Control - AFTC (Delhi)

No comments: