आइएरलैंड में तपेदिक या टी।बी. की महामारी फैली और फ्लोरिडा की छात्र को टी.बी होने से सनसनी फैली

आइएरलैंड में तपेदिक या टी।बी. की महामारी फैली और फ्लोरिडा की छात्र को टी.बी होने से सनसनी फैली

आइएरलैंड देश की राजधानी दुब्लिन से दक्षिण-पश्चिम की ओर किल्दारे नामक छेत्र में तपेदिक या टी.बी. के फैलनेका समाचार मिला है (पढने के लिए यहाँ क्लिक्क करें)।

सैंट राफेल'स डे सेंटर के निवासियों में एवं वहाँ के कर्मचारियों में भी तपेदिक या टी.बी के फैलने का समाचार मिलाहै।

इस केन्द्र में लगभग ६०० लोगों को टी.बी होने का खतरा है हालांकि अधिकारियों ने ६०० में से कितने लोगों को टी.बीहै ये बताने से इनकार कर दिया है।

वही अमरीका में फ्लोरिडा के एक हाई स्कूल की छात्र को टी.बी होने से अमरीका में सनसनी फैली (ख़बर पढने केलिए यहाँ क्लिक्क करें) । न केवल उस स्कूल के अन्य छात्रों को और शिक्षकों को एवं अभिभावकों को टी.बी काखतरा बता कर उन सब की जांच हो रही है बल्कि टी.बी से ग्रसित छात्र को उचित इलाज भी प्रदान किया जा रहा है।

सोचने की बात ये है कि एक ओर अमरीका में जहाँ एक स्कूल की छात्र को टी.बी होने पर इस कदर सनसनी फैलतीहै, स्वास्थ्य व्यवस्था हरकत में आ जाती है, वही दूसरी ओर भारत, चीन, अफ्रीका के राष्ट्रों में इतने अधिक संख्यामें टी.बी से ग्रसित लोग हैं कि इस तरह हरकत में आ जाने की सम्भावना है ही नही। शायद ये हरकत आवश्यक भीनही है क्योकि जागरूकता अधिक जरूरी है, लोगों की संवेदनशीलता बढ़ाना अधिक आवश्यक है, और सनसनी केबजाय एक समझदार और जिम्मेदार पहल जरूरी है।

No comments: