NREGS या राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना की उन्नाव में जनता जांच

NREGS या राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना की उन्नाव में जनता जांच

२०- २८ मई २००८

डेढ़ साल के संघर्ष के बाद आशा परिवार और उन्नाव के मियागंज ब्लाक के निवासियों को NREGS या राष्ट्रीयग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना से संबंधित सरकारी दस्तावेज़ प्राप्त हो पाये हैं. इस संघर्ष में वीरेंदर सिंह और येशवंत राव की भूमिका प्रमुख रही है.

सूचना के अधिकार अधिनियम २००५ के तहत अपने ब्लाक में राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना से संबंधित दस्तावेज़ प्राप्त करने के लिए यशवंत राव ने ४ देसेम्बर २००६ को आवेदन पत्र ब्लाक कार्यालय में जमा किया था.

जून २००७ में उसको जवाब मिला कि रुपया १,५८,४०० जमा करने का बाद ही उसको ये हिसाब मिल सकता है. ये संख्या (रुपया १,५८,४००) भी एक अंदाजे से लगाई गई थी कि मियागंज ब्लाक की ६६ पंचायत के दस्तावेज़ देने के लिए हर गावं में रुपया २,४०० की रकम के हिसाब से रुपया १,५८, ४०० की संख्या बनती है.

इस मुद्दे पर प्रदेश के सूचना आयोग में एक लम्बी बहस चली और १० सुनवाई के बाद ये नतीजा निकला और सूचना आयोग ने आदेश जारी किया कि ब्लाक अधिकारी नि:शुल्क सारे दस्तावेज़ उपलब्ध करायें.

६ अप्रैल २००८ को कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना से संबंधित दस्तावेज़ मिलने आरंभ हुए. इतनी ढेर सारी जानकारी आशा परिवार को कभी नही मिली है.

NREGS या राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना से संबंधित जनता जांच अब तक भरवन, संडीला और बेहेंदर ब्लाक जो हरदोई जिले में हैं, की जा चुकी है.

लोगों से निवेदन है कि इस कार्य में शामिल हों और सहयोग करें. उन्नाव जिले के मियागंज ब्लाक में NREGS या राष्ट्रीय ग्रामीण रोज़गार गारंटी योजना के कार्य की जनता जांच २०-२८ मई २००८ के दौरान होगी. २० मई २००८ को मियागंज ब्लाक के कार्यालय में जनता जांच करने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा, जिसके बाद ६ दिनों तक ११ टीम ६६ गावं की पंचायत का दौरा करेंगी. २८ मई २००८ को एक जन सुनवाई में ये रपट जनता के समक्ष रखी जायेगी.

यदि आप जनता जांच में भाग लेना चाहते हों, तो कृपया कर के सम्पर्क करें:

येशवंत राव, ९९३५४५१८७६
वीरेंदर सिंह, ९९३५७८८४२०
अरुंधती धुरु, ९४१५०२२७७२, ईमेल: arundhatidhuru@yahoo.co.uk
संदीप, ईमेल: ashaashram@yahoo.com

आशा परिवार, उन्नाव
और
National Alliance of People’s Movements, UP
(जन आन्दोलनों का राष्ट्रीय समंवाए, उत्तर प्रदेश)

No comments: